Rules

1. अभ्यर्थियों को चाहिए कि वे सभी नियमों से अवगत हो कर तदनुसार सावधानीपूर्वक प्रवेश आवेदन-पत्र भरें अधूरे आवेदन-पत्र पर विचार नहीं किया जायेगा।
2.महाविद्यालय के नियम एवं विधि में किसी प्रकार के परिवर्तन तथा नये नियम एवं विधि लागूकरने के समस्त अधिकार प्राचार्य के पास सुरक्षित है। प्रवेश के पश्चात् विद्यार्थियों द्वारा सभी नियमों का परिपालन अनिवार्य होगा।
3.प्रवेश के समय मूल स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र (टी.सी.) अवश्य जमा करें। व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में इण्टर परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थी भी उस विद्यालय से (टी.सी.) अवश्य लायें जहां वे अन्तिम बार संस्थागत छात्र थे।
4. यू.पी. बोर्ड के अतिरिक्त अन्य किसी बोर्ड से इण्टर परीक्षा उत्तीर्ण होने की स्थिति में मूल माइग्रेशन प्रमाण-पत्र जमा करना भी अवश्यक होगा।
5. प्रवेश की पुष्टि के बाद किसी भी समय पता चलने पर कि निरस्त कर दिया जायेगा।
6. प्रवेश के उपरान्त यदि कोई छात्र/छात्रा अपना प्रवेश किसी कारण निरस्त कराना चाहता है तो ऐसी दशा में जमा किया गया शुल्क वापस नहीं होगा।
7. प्रवेश सम्बंधी नियम के समस्त अधिकार प्राचार्य के पास सुरक्षित है जिसे कानूनी रूप से किसी भी अदालत में चुनौती नहीं दी जा सकती है।
8. स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश मेरिट एवं साक्षात्कार के आधार पर होगा । साक्षात्कार हेतु इण्टरमीडिएट परीक्षा प्राप्तांक के श्रेष्ठता क्रम में बुलाया जायेगा । उक्त श्रेष्ठता सूचि में नाम होने का यह कदापि अर्थ नहीं होगा कि छात्र प्रवेश हेतु अर्ह हैं।
9. इण्टरमीडिएट की परीक्षा व्यवसायिक वर्ग से उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों की श्रेष्ठता सूचि सैद्धान्तिक (Theory) विषयों के प्राप्तांक के आधार पर निर्धारित होगी, इसमें प्रायोगिक (Practical) अंक सम्मिलित नहीं होंगे। | 10. अल्पसंख्यक (मुस्लिम) अभ्यर्थियों के लिये प्रवेश हेतु नियमानुसार सीटें आरक्षित हैं।
11. प्रवेश के लिये उन्हीं छात्रों पर विचार किया जायेगा जिन्होनें अर्ह परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिये तीन बार से अधिक का समय नहीं लिया हो । अन्तराल की दशा में एक वर्ष पर 5 प्रतिशत दो वर्षों पर 7 प्रतिशत एवं तीन वर्षों पर 10 प्रतिशत कटौती के उपरान्त मेरिट तैयार किया जायेगा।

1. भूतपूर्व छात्र/छात्रा महाविद्यालय के छात्र नहीं हैं।
2. महाविद्यालय के प्रत्येक संस्थागत छात्र/छात्रा के पास परिचय पत्र होना आवश्यक है।
3. सभी छात्र/छात्राओं से अपेक्षा की जाती है कि प्रवेश तिथि को ही कार्यालय में निर्धारित प्रपत्र भर कर जमा कर दें और परिचय-पत्र कार्यालय से एक सप्ताह बाद प्राप्त कर लें।
4. परिचय पत्र के बिना महाविद्यालय प्रांगण में प्रवेश वर्जित है। परिचय-पत्र की मांग या चेकिंग किसी भी समय की जा सकती है।
5. परिचय पत्र न होने पर छात्र/छात्रा महाविद्यालय का कोई प्रमाण-पत्र या सुविधा प्राप्त नहीं कर सकेगा।
6. परिचय-पत्र खो जाने की स्थिति में महाविद्यालय कार्यालय में रू. 50.00 जमा करने पर दूसरा परिचय-पत्र बन सकेगा । किन्तु दूसरा परिचय-पत्र भी खो जाने की स्थिति में एफिडेविट देने और रू. 100.00 दण्ड शुल्क जमा करने पर ही नया परिचय-पत्र बन सकेगा।

Menu
Translate »
Open chat
1
Hello.. How can i help you? :-)